संकलक

Hindi Blogs Directory

Wednesday, June 27, 2012

पिंकियों का मुसीबत काल

Published in News Today

डिसक्लेमर- तमाम पिकिंयों से हार्दिक क्षमाप्रार्थना। आग्रह है कि इसे दिल पर ना लें, दिमाग से ही निबटा दें।

जबसे पता चला है कि 'पिंकी' महिला नहीं बल्कि पुरुष है, भारी मुसीबत खड़ी हो गई है। तमाम 'पिंकी' नाम की लड़कियों के ब्वॉयफ्रेंड उन्हें शक की निगाहों से देखने लगे हैं। बार-बार फोन करके और अन्य तरीकों से पुष्टि कर लेना चाहते हैं कि 'पिंकी' कहीं 'पिंका' तो नहीं। इन ब्वॉयफ्रेंडों का शक तब और गहरा होने लगता है जब उनकी 'पिंकी' नामक गर्लफ्रेंड दौड़ती नजर आती है। अपनी 'पिंकी' के चेहरे में उन्हें वही 'पिंकी' नजर आने लगती है जिसपर शक है कि वह 'पिंका' है। अगर ब्वॉयफ्रेंड अकेले फिल्म देखने के लिए बुलाता है और 'पिंकी' ना जाए तो ब्वॉयफ्रेंडों का शक और गहरा हो जा रहा है। एेसे में जिन ब्वॉयफ्रेंडों की गर्लफ्रेंडों का नाम 'पिंकी' है, उनके फ्रेंडों में भी यह बड़ी चर्चा का विषय है। भाई लोग अपने ही यार का मजाक उड़ाए डाल रहे हैं। अबे, देख लियो फिर मामला गड़बड़ ना हो जाए। अब बेचारे ब्वॉयफ्रेंड मुंह छुपाए घूम रहे हैं। एक भाई की गर्लफ्रेंड का नाम 'पिंकी' है। उसने अल्टीमेट उपनाम निकाला है अपनी गर्लफ्रेंड के लिए। किसी से इंट्रोडक्शन कराना हो तो कहता है, ये 'छुई-मुई' है।

लड़कों के परिजनों और प्रियजनों ने भी उन्हें चेतावनी दे डाली है। बेटा चाहे जो कर लेना पर किसी 'पिंकी' के चक्कर में ना पडऩा। बाद में लेने के देने पड़ जाएंगे, पता चला उधर 'पिंकी' मेडल और तमगे हासिल कर रही है और इधर तुम्हारा घर बर्बाद हो रहा है।

दिलचस्प बात यह है कि सिर्फ ब्वॉयफ्रेंड ही नहीं, तमाम पति भी अपनी 'पिंकी' नाम की पत्नियों का नए सिरे से निरीक्षण-परीक्षण करने में जुट गए हैं। संयोगवश एक जनाब मिल गए जिनकी पत्नी का नाम 'पिंकी' था। बेचारे बेहद मायूस से नजर आए। पूछने पर पता चला कि भाई मामला तो ओके टेस्टेड है कि 'पिंकी' ही है, लेकिन जब हाथ में बेलन होता है वह किसी भी पिंका से ज्यादा खतरनाक नजर आती है।

उधर इस सिचुएशन में बेचारी पिंकियां भी परेशान हैं। एक 'पिंकी' नामक लड़की अपनी सहेली से बात कर रही थी। क्या मुसीबत है यार। पता नहीं कहां से 'पिंकी' टपक पड़ी। अगर ब्वॉयफ्रेंड के साथ घूमते वक्त गलती से भी किसी लड़की की तरफ निगाह चली जाती है तो ब्वॉयफ्रेंड अजीब हरकतें करने लगता है। ब्वॉयफ्रेंड के साथ होते हुए किसी सहेली का फोन आ जाए तो भी मुसीबत। कितनी सफाई देनी पड़ती है। वह बताए जा रही है। पता है मैं इस बार अपने स्कू  ल के एथलेटिक्स इवेंट में पार्टिसिपेट करने वाली थी, लेकिन अब आइडिया ड्रॉप कर दिया है। ख्वामखाह कंट्रोवर्सी नहीं चाहती। बेचारी पिंकियां।

(Published in News Today)

1 comment: